यह पृष्ठ साँचा:क्या आप जानते हैं पन्ने के सुधार पर चर्चा करने के लिए वार्ता पन्ना है। यदि आप आप अपने संदेश पर जल्दी सबका ध्यान चाहते हैं, तो यहाँ संदेश लिखने के बाद चौपाल पर भी सूचना छोड़ दें।

क्या आप जानते हैं ?
नियम
चर्चा
सुझाव
पुरालेख (स्वीकृत)
पुरालेख (अस्वीकृत)


Copper question mark 3d.png
  • यहाँ नामांकन से पूर्व कृपया नियमावली को ध्यानपूर्वक पढ़ लें। तथ्य नियमावली के अनुरूप होने पर ही उसे नामांकित करें।
  • यह कार्य नियमावली के अनुरूप होता है। इसमें समीक्षा के दौरान कृपया कुतर्क करके बहस को लम्बा न करें।
  • किसी भी नये नामांकन के लिए शीर्षक का चयन तिथि के अनुसार करें। शीर्षक में वो तिथि लिखें जिसको नामांकन किया गया है। उदाहरण के लिए यदि आप आज कोई नामांकन कर रहे हैं तो शीर्षक में आज की तिथि (23 अगस्त 2019 अथवा २३ अगस्त २०१९) लिखें।
  • यदि एक ही तिथि को एक से अधिक नामांकन किये जाते हैं तो सम्बंधित सुझाव के लिए उप-अनुभाग बनायें। उप-अनुभाग का शीर्षक सम्बंधित लेख के अनुसार होना चाहिए।
  • किसी भी नामांकन की समीक्षा कोई भी प्रबन्धक अथवा पुनरीक्षक कर सकता है। नवीन सदस्य भी समीक्षा में भाग ले सकते हैं लेकिन मुखपृष्ठ पर अद्यतन करने से पूर्व प्रबन्धक सभी समीक्षाओं को मध्यनज़र रखेगा।
  • कोई भी कॉपी-राइट उल्लंघन करने वाला चित्र यहाँ सुझाव में समाहित न करें। सुझाव में समाहित चित्र मुक्त लाइसेंस के अन्तर्गत विकिमीडिया कॉमन्स पर होना चाहिए।

वर्तनी सुधार

अब पता नहीं ये सही जगह है कि नहीं पर एक हुक में व्याकरण या वर्तनी सुधार आवश्यक है। "कि नैशनल हॉकी लीग कि स्टैनली कप ट्रॉफी ८९.५४ सेंटीमीटर ऊंची और १५.५ किलोग्राम वजन है।" इसको ऐसा करे:

  • कि नैशनल हॉकी लीग की स्टैनली कप ट्रॉफी ८९.५४ सेंटीमीटर ऊंची और १५.५ किलोग्राम वजनी है।
या
  • कि नैशनल हॉकी लीग की स्टैनली कप ट्रॉफी ८९.५४ सेंटीमीटर ऊंची और १५.५ किलोग्राम वजन की है।

धन्यवाद!--पीयूष (वार्ता)योगदान 07:36, 26 जनवरी 2015 (UTC)

सुझाव के लिए धन्यवाद। यह उपयुक्त स्थान है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 08:13, 26 जनवरी 2015 (UTC)
आपके मेरे सुझाव के थोड़ा अलग सुधार करने के बाद एक और व्याकरण सुधार करना होगा:"कि नैशनल हॉकी लीग की स्टैनली कप ट्रॉफी की ऊँचाई ८९.५४ सेमी और भार १५.५ किलोग्राम है।"--पीयूष (वार्ता)योगदान 08:20, 26 जनवरी 2015 (UTC)



11 अक्तूबर 2017

...कि भारतीय संगीतकार और गायक शंकर महादेवन, 2015 में मराठी चलचित्र कटयार कलजात घुसली में अभिनय भी कर चुके है? Nilesh shukla (वार्ता) 12:00, 11 अक्टूबर 2017 (UTC)nilesh shukla

@Nilesh shukla: विकिपीडिया:क्या आप जानते हैं#नियम में ये लेख नहीं बैठता। ये सिर्फ १०२ शब्दोंका है और सन्दर्भहीन भी है। आप लेख को और बढाकर यहा टिप्पणी लिखे ताकि आगे समीक्षा हो सके। Dharmadhyaksha (वार्ता) 06:43, 29 नवम्बर 2017 (UTC)
@Dharmadhyaksha: क्या आप जानते हैं के लिए शब्द नहीं कैरैक्टर गिने जाते हैं जो ५२५ हैं अर्थात् नियमावली के अनुसार पूर्ण नहीं हैं। @Nilesh shukla: कृपया धर्माध्यक्ष जी की समीक्षा के अनुसार लेख में जल्दी सुधार करो।☆★संजीव कुमार (✉✉) 13:46, 17 मार्च 2018 (UTC)
@Dharmadhyaksha:, @संजीव कुमार: जी, हुक से जुडे लेखों का विस्तार कर दिया है, साथ ही सन्दर्भ भी लगा दिया है। निलेश शुक्ला (वार्ता) 09:22, 19 मार्च 2018 (UTC)Nilesh shukla
@Nilesh shukla: आपने लेख का विस्तार अवश्य किया है लेकिन हुक में दिये गये तथ्य का साक्ष्य कहाँ है? इसके अतिरिक्त क्या उन्होंने किसी अन्य फ़िल्म में काम नहीं किया? मेरा कहने का अर्थ है कि संगीतकार और गायक सामान्यतः एक-दो फ़िल्मों में अभिनय कर ही लेते हैं अतः ऐसी कौनसी रोचकता है जिसके लिए आप इसे क्यासंवाद में जुड़वाना चाहते हो?☆★संजीव कुमार (✉✉) 09:58, 23 मार्च 2018 (UTC)
@संजीव कुमार: जी, तथ्य का साक्ष्य, लेख में लगा दिया गया है। इन्होंने केवल एक ही फ़िल्म में काम किया है (जैसा कि इनके en.wiki से पता चलता है)। रही बाद रोचकता की तो यह समिक्षकों के उपर है। वैसे यह तथ्य अंग्रेजी विकि पर लगाया जा चुका है। निलेश शुक्ला (वार्ता) 10:51, 23 मार्च 2018 (UTC)Nilesh SHukla
निलेश जी, कृपया अंग्रेज़ी पर प्रकाशन कब हुआ? उसकी कड़ी दें।☆★संजीव कुमार (✉✉) 14:08, 23 मार्च 2018 (UTC)


16 मार्च 2018


१६ अप्रैल २०१८

... कि टिहरी और गढ़वाल दो अलग नामों को मिलाकर इस जिले का नाम टिहरी गढ़वाल जिला रखा गया है। जहाँ टिहरी बना है शब्‍द त्रिहरी से, जिसका मतलब है एक ऐसा स्‍थान जो तीन तरह के पाप (जो जन्‍मते है मनसा, वचना, कर्मा से) धो देता है वहीं दूसरा शब्‍द बना है गढ़ से, जिसका मतलब होता है किला। सन्‌ ८८८ से पूर्व सारा गढ़वाल क्षेत्र छोटे-छोटे गढ़ों में विभाजित था, जिनमें अलग-अलग राजा राज्‍य करते थे जिन्‍हें ‘राणा’, ‘राय’ या ‘ठाकुर’ के नाम से जाना जाता था। इसका पुराना नाम गणेश प्रयाग माना जाता है। --आशीष भटनागरवार्ता 03:46, 16 अप्रैल 2018 (UTC)

@आशीष भटनागर: जी, नियम अनुसार हुक २०० कैरेक्टर का होना चाहिए। ये ५१२ कैरेक्टर है। आप यहाँ जाँच कर सकते हैं। दूसरा नियम है कि लेख नया हो या हाल ही में उसका विस्तार अच्छी तरह से किया गया है। इस मापदण्ड को पूरा करने के लिए आपको अधिक विस्तार करना होगा।--आर्यावर्त (वार्ता) 06:09, 16 अप्रैल 2018 (UTC)
@आर्यावर्त: जी, कैरेक्टर्स तो पाठ को हुक बनाते समय आवश्यकतानुसार घटा सकते हैं। दूसरा लेख के नयेपन की बात - कोई लेख पुराना बना हुआ हो और उसके कोई भी तथ्य कभी भी यहां प्रयोग न हुए हों, तो क्या उस लेख के तथ्य बताने लायक केवल इस कारण से नहीं रहेंगे कि यह नया नहीं है? यदि इसा ही है और होना चाहिये, तो छोडिये इस हुक को। तथ्य में नया पन होना चाहिये, न कि लेख में- ऐसा मेरा मानना है। इसे मान्यता न मिले तो न सही।--आशीष भटनागरवार्ता 15:12, 16 अप्रैल 2018 (UTC)
@आशीष भटनागर: जी, मुझे लगता है कि उत्तराखण्ड से सम्बंधित एक तथ्य आ चुका है अतः कोई दूसरा हुक सुझाएँ।-- गॉड्रिक की कोठरीमुझसे बातचीत करें 11:09, 1 मई 2018 (UTC)
मैंने कोई तिथिपरक तथ्य नहीं सुझाया है, अतः इसे आप सुविधानुसार कभी भी प्रयोग कर सकते हैं। आज अगले सप्ताह, अगले माह या अगले वर्ष, या जब कोई अन्य हुक उपलब्ध न हो। ऐसे कुछ या की हुक आप तथ्य संग्रह बना कर उसमें संचित कर सकते हैं, जिस प्रकाऋ आलेख का संग्रह (रिजर्व) बना हुआ है। आपश्यकतानुसार उसमें से लेते रहते हैं। शेष आपका लुक-आउट है।--आशीष भटनागरवार्ता 02:03, 2 मई 2018 (UTC)
@आशीष भटनागर: जी, ठीक है तब आप कोई एक सही हुक सुझाये क्योंकि वर्तमान हुक तो काफी लम्बा है। जब रानीखेत वाला तथ्य मुखपृष्ठ से हट जायेगा तब मैं इसे लगा दूंगा।-- गॉड्रिक की कोठरीमुझसे बातचीत करें 14:06, 2 मई 2018 (UTC)


निवेदिता सेतु-दक्षिणेश्वर मन्दिर

...कि कोलकाता के निवेदिता सेतु को भारी ट्रैफिक उठाने के बावजूद, छोटे आकार का और काम भव्य, एक्स्ट्राडोज़, बनावट का बनाया गया था, ताकि इसकी भव्यता के आगे दक्षिणेश्वर काली मन्दिर की भव्यता कम नहीं पड़ जाए।

यह कैसा सुझाव है?Natural-moustache Simple Black.svg  निरपराधवत् मृदुरोमकः    वार्ता  02:54, 2 मई 2018 (UTC)
अच्छा है, बस छोटे मोटे प्रारुपन की जरुरत है।Navinsingh133 (वार्ता) 10:18, 2 मई 2018 (UTC)

@Innocentbunny: जी, कृपया कोई भी हुक सुझाने से पूर्व एक बार विकिपीडिया:क्या आप जानते हैं#नियम पढ़ लें। लेख में केवल 4 सन्दर्भ हैं जबकि नियमानुसार 5 सन्दर्भ होने चाहिये। साथ ही थोड़ा छोटा हुक सुझाये। इसके अलावा लेख में आपके हुक में निजी ब्लॉग की कड़ी लगी है। कृपया कोई अन्य विश्वसनीय स्रोत लगाये।-- गॉड्रिक की कोठरीमुझसे बातचीत करें 14:01, 2 मई 2018 (UTC)


8 मई 2018


24 मई 2018





११ अगस्त २०१८







,


23 मार्च 2019

  • ...। कि गुप्तचर प्रमुख


    14 जून 2019



    25 जुलाई 2019


    राजस्थान में तीन तलाक के खिलाफ मुस्लिम समुदाय ने भरी हुंकार

    आज दोपहर को केन्द्र की मोदी सरकार के तीन तलाक बिल संसद में पास करने के विरोध में मुस्लिम समुदाय ने विरोध स्वरूप रैली निकालकर कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौपा,रैली ईदगाह चौहराहे से रवाना होकर शहर के प्रमुख मार्ग बजाज रोड़,जाट बाजार, तापड़िया बगीची,स्टेशन रोड़,होते हुए कलेक्ट्रेट पहुँची जहां *वरिष्ठ उलमा मौलाना असद कासमी के नेतृत्व मे शहर के उलमा हजरात के प्रतिनिधि मण्डल ने ज्ञापन दिया* जिसके बाद मौलाना असद साहब ने वहां मौजूद मिडियाकर्मीयो को सम्बोधित करने के बाद रैली में आए लोगों को तलाक बिल के बारे में बताने के बाद शहर के गणमान्य लोगो के साथ इज्तमाई दुआ करवाई,रैली में शहर की कई तंजीमो के लोगो के अलावा सदर मो. कासिम खिलजी, वाहिद चौहान, आमीन पठान, कयूम कुरैशी, एडवोकेट सलीमुद्दीन, शरीफ चौहान, पप्पू पार्षद, पार्षद लतीफ, आमीन रंगरेज, शाबुद्दीन गौड़, असलम खत्री, जहांगीर खिलजी, एडवोकेट फिरोज मुगल, अफ़रान सुल्तानिया, शाहरूख राणा, जावेद मंसूरी, रिजवान गुढ़ा कई समाज के गणमान्य लोगों ने रैली में शिरकत की। http://news24india.co/2108/

Original: Original:

https://hi.wikipedia.org/wiki/साँचा_वार्ता:क्या_आप_जानते_है