मैदान शर हमला
सम्बंधित: अफगानिस्तान में युद्ध
मैदान शर हमला की Afghanistan के मानचित्र पर अवस्थिति
मैदान शर हमला

अफगानिस्तान के भीतर एनडीएस सैन्य परिसर का स्थान
स्थान मैदान शर, अफगानिस्तान
निर्देशांक 34°23′50″N 68°52′11″E / 34.39722°N 68.86972°E / 34.39722; 68.86972निर्देशांक: 34°23′50″N 68°52′11″E / 34.39722°N 68.86972°E / 34.39722; 68.86972
तिथि 21, जनवरी 2019
20:00 (UTC+04:30)
लक्ष्य सैन्य कर्मचारी
हमले का प्रकार कार बम, अंधाधुंध गोलीबारी
हथियार कार बम, असाल्ट राइफल
मृत्यु 126 (+3 हमलावर)
190 (तालिबान का दावा)
36 (एनडीएस का दावा)
घायल 58-70
पीड़ित अफगान सैनिक
हमलावर तालिबान
भागीदार संख्या 3
संरक्षक अफ़ग़ान राष्ट्रीय सुरक्षा बल

21 जनवरी 2019 को, तालिबान ने मध्य अफगानिस्तान में मैदान शर में एक सैन्य परिसर में 100 से अधिक अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा बलों के सैनिकों को मार डाला।[1] यह हमला तालिबान और अमेरिका के साथ चल रहे युद्धविराम बातचीत के दौरान हुआ।[2] हमला की शुरूआत एक हमलावर द्वारा परिसर में विस्फोटकों से भरे एक वाहन को टक्कर मार कर हुई, फिर दो अन्य हमलावरों ने परिसर में हमला किया और गोलीबारी चालू कर दी, जो बाद में संघर्ष में मारे गए।[3] अफगान रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि विस्फोट में 126 लोग मारे गए।[1] तालिबान ने इस हमलें की जिम्मेदारी ली है और कहा कि हमले में 190 से अधिक लोग मारे गए थे।[1] अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय के अनुसार 36 सैन्यकर्मी भी मारे गए है।[4]

आक्रमण

हमलावरों ने एक सैन्य जांच नाके के माध्यम से विस्फोटकों से भरे एक वाहन से टक्कर मार दी और मैदान वर्दक प्रांत की राजधानी मैदान शर में प्रशिक्षण केंद्र में विस्फोट किया। विस्फोट के बाद, दो से पांच तालिबान बंदूकधारियों ने परिसर में प्रवेश किया और गोलीबारी चालू कर दी, इस झड़प में कई अफगान सैनिक मारे गये, साथ ही हमलावर भी मारे गये।[5] रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, तालिबान ने एक हमवी वाहन का इस्तेमाल किया, जो उन्होंने बम के लिए सरकारी बलों से छीन लिया था।[1] यह हमला उसी दिन हुआ था जब तालिबान के प्रतिनिधि कतर में अफगान शांति वार्ता के लिए अमेरिका के विशेष दूत ज़ाल्मे खलीलज़ाद से मिले थे।[1] [6] मैदान वारदक में प्रांतीय परिषद के सदस्य शरीफ होटक ने कहा, “विस्फोट बहुत शक्तिशाली था। पूरी इमारत ढह गई है।"[7]

हताहत

स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि सैनिकों और एनडीएस कर्मियों के हताहत संख्या के बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, यह कहते हुए कि अधिकारियों ने मनोबल को नुकसान पहुंचाने के डर से मीडिया के साथ चर्चा नहीं की।[8] एनडीएस की रिपोर्ट में 36 की मौत और 58 घायल बताए गए हैं।[4] प्रांतीय परिषद के उप प्रमुख मोहम्मद सरदार बखियारी ने बताया कि सैन्य अड्डे में कम से कम 65 लोग मारे गए थे।[9] मैदान वरदक प्रांत के एक अन्य सूत्र ने बताया कि हमले में एनडीएस के 100 से अधिक सदस्य मारे गए है।[5] शरीफ होटक ने कहा "कई और मारे गए" और उन्होंने अस्पताल में 35 अफगान सैनिकों के शव देखे थे। होटक ने दावा किया कि सरकार हताहत के आंकड़े लोगों से छिपा रही है।[8] प्रांतीय परिषद के सदस्य ख्वानिन सुल्तानी ने कहा कि हमले में 70 से अधिक घायल हो गए।[10] तालिबान विद्रोहियों के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद ने दावा किया कि हमले में 190 लोग मारे गए थे।[5]

प्रतिक्रियाऐं

अफ़ग़ानिस्तान

राष्ट्रपति अशरफ गनी के कार्यालय ने हमलावरों को "देश के दुश्मन" कहा और कहा कि "उन्होंने हमारे कई प्यारे और ईमानदार बेटों को मार डाला और घायल कर दिया"।[5]

ईरान

ईरान के विदेश मंत्रालय के एक प्रतिनिधि बहराम घासेमी ने हमले की निंदा की और पीड़ित परिवारों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की।[11]

पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हमले से प्रभावित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की।[12]

तुर्की

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोआन ने इस हमले की निंदा की और गनी से अपनी संवेदना व्यक्त की।[7]

संयुक्त राज्य अमेरिका

अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास ने हमले की निंदा की और कहा कि "अमेरिका अफगानिस्तान के लोगों के साथ खड़ा है, जो शांतिपूर्ण भविष्य और हिंसा का अंत चाहते हैं"।[13]

सन्दर्भ

  1. "Taliban attack on Afghan security base kills over 100". Reuters. 21 January 2019. अभिगमन तिथि 21 January 2019.
  2. "Taliban kills Afghan forces as it resumes truce talks with U.S." CBS News. 21 January 2019. अभिगमन तिथि 21 January 2019.
  3. "Taliban attack kills 126 security personnel in Afghanistan". Dhaka Tribune. 21 January 2019. अभिगमन तिथि 21 January 2019.
  4. Shah, Amir; Faiez, Rahim (22 Jan 2019). "Afghan security service suffers heavy toll in Taliban attack". AP News. अभिगमन तिथि 23 Jan 2019.
  5. "Taliban attack on Afghanistan military base kills over 100". India Today. 22 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
  6. "After Deadly Assault on Afghan Base, Taliban Sit for Talks With U.S. Diplomats". New York Times. 21 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
  7. "More than 100 Afghan forces killed in Taliban attack". Daily Sabah. 21 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
  8. "Taliban attack on Afghan security base kills more than 100 security personnel". Abc.net.au. 22 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
  9. "Around 65 killed in Taliban attack on Afghan intel base: Local Official". Times of India. 22 Jan 2019. अभिगमन तिथि 23 Jan 2019.
  10. "As many as 100 Afghan security forces killed in Taliban attack". Al Jazeera. 22 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
  11. "Iran condemns deadly attack on Afghan military compound". Mehr News Agency. 22 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
  12. "PM Imran Khan offers condolence to people of Afghanistan over terror attacks". www.thenews.com.pk. 22 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
  13. "US to support Kabul in achieving peace reconciliation post Wardak attack". Business Standard. 22 January 2019. अभिगमन तिथि 22 January 2019.
Original: Original:

https://hi.wikipedia.org/wiki/मैदान_शर_हमला